Saturday, 10 August 2013

Aim of Life


I wanna be a doctor, or dance like a swan,
Cricket, hockey, an artist to be drawn,
 A bird, an alien, a leader of a clan,
I wish to dream something I can, I can, I can…

The feelings of a child who cannot decide, what should he aim to become in future?


कभी सोचता हूँ , डॉक्टर बन जाऊं ,
सफ़ेद कोट पहन , बड़ी गाड़ी में जाऊं ,
ख्वाब रोज़ नए , अभी छोटा हूँ ना ,
क्या है बनना मुझे , ये है सोचना । 

क्या भईया का गिटार लेकर बन जाऊं रॉक स्टार ?
जब से ली है इंजीनियरिंग , वो पड़ा है बेकार , 
क्यूँ नहीं उससे पूछते , उसे क्या बनना है ?
उसकी ट्रोफी से क्या उसके बच्चों को खेलना है ?

दीदी की तरह मॉडल के सपने नहीं देखना मुझको ,
मम्मी पापा से दूर रहना बर्दाश्त नहीं मुझको ,
चार साल हो गए, पर दीदी अब तक नहीं आई ,
जाने क्यूँ उसे पढ़ाई पसंद नहीं आई ?

डांसर , एक्टर या फिर फिल्मों में गाना मैं गाऊं ,
मैं तो सोच रहा , सर्कस का जोकर ही बन जाऊं ,
क्रिकेट , हॉकी , ऐसा क्या कर के दिखाऊ ,
पापा की उम्मीदों पे खरा उतर के आऊं। 

क्या बनू ऐसा, जो ख्वाब पूरा हो जाये ,
चाह कर भी कोई , मुझे रोक न पाए ,
अब किसी ने पूछा , की मैं क्या बनूँगा ,
सबको यही कहूँगा , 
मैं लेखक बनूँगा ,
मैं लेखक बनूँगा।






9 comments:

  1. nice poem dude ...
    finally d child decides what to do...
    a child always know what is his talent ... if he is given free will :)
    ending lines fantabulous :)
    मैं लेखक बनूँगा ,
    मैं लेखक बनूँगा

    ReplyDelete
    Replies
    1. thnx utkarsh...
      the dreams can always be achieved, all u need to do is never let it go of your mind.

      Delete
  2. Many desires and a wish to excel in life. Lovely verses.

    ReplyDelete
    Replies
    1. I wrote this a year ago, when everyone was asking me the same question. :)

      Delete
  3. Wah!! kuch zyada hi acha hai.. :) Bachpan ki Yaad aagyi :p

    ReplyDelete
    Replies
    1. Everyone has to go through this phase :)

      Delete